तुम्हारे लिए हम है आए

ख्वाबों में
आये जब तुम , हम खो गए
इस दिल की
हर कमी तुम ही हो गए
हम कभी तुममे गुम , तुम कभी हममे गुम
खो रहे खो रहे
जाने क्यूँ तुम नहीं , पास पर गुम कहीं
क्या कहे क्या कहे
वक़त ये रोक लूँ खुद से ही ये कहूँ
तू मिले  तू मिले
ये जहाँ वो जहाँ हर जगह तू मिले
हाँ मिले हाँ मिले
तुम्हारे लिए हम है आए - 4

1. आये तू जिस घडी जाए ना पल वो कभी
मेरी  हर साँस में तू ही बस जा कहीं
जिंदगी भर यूँही मुझमे घुलता रहे
सांसों में ख्वाबों में
चाहे हर पल मेरा तुझमे खोता रहे
जानेमन ओ जानेजा
तुम्हारे लिए हम है आए - 4
2. जिंदगी अब मेरी तुझसे जो है जुड़ी
मर के भी टूटे ना ऐसी है ये कड़ी
जान जाए रहे तू ही कायम रहे
हर जगह हर जगह
याद आए जहां हो सवेरा वहां
रोशनी हो वहां

तुम्हारे लिए हम है आए - 4

Comments

Popular posts from this blog

****ख्वाहिश ****

*****हिसाब ****